जब दुल्हन लाल जोड़े में पहुंची कॉलेज, पेपर दिया फिर हुई विदाई, तब तक डटी रही बारात

जब दुल्हन लाल जोड़े में पहुंची कॉलेज, पेपर दिया फिर हुई विदाई, तब तक डटी रही बारात

कहते हैं सफल इंसान आज वो ही जो वक्त का सही यूज करके आगे बढ जाये। लेकिन कई लोग वक्त को नहीं समझते हैं। मस्ती करने में ज्यादा वक्त बिताते हैं। खासतौर पर युवा वर्ग आजकल पढाई को कम महत्व देते हैं। अगर सही तरीके से पढाई की जाये तो सफलता आपके कदम जरूर चूमेंगी। चलो अब बात करते है मुद्दे की। एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे पढकर हर कोई उसकी तारीफ कर रहा हैं। आपको बता दें कि एक बेटी ने अपनी शादी की विदाई होने से पहले परीक्षा हॉल जाकर अपना परीक्षा दिया तब जाकर अपने पति के साथ उसके घर गई। ये बारात मध्यप्रदेश के कस्बा नौगांव से आई थी।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक बीए तृतीय वर्ष की छात्रा रंजना वीरभूमि राजकीय महाविद्यालय में गुरुवार को विदाई से पहले अपनी परीक्षा का पेपर देने पहुंचीं। ये परीक्षा 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक हुई। इस दौरान बरात और बाराती सब दुल्हन का इंतज़ार करते रहे। जब सही ढंग से परीक्षा हो गई तब जाकर दुल्हन की विदाई हुई। ये खबर थाना खन्ना के तिंदुही गांव के रहने वाली रंजना वीरभूमि कॉलेज में बीए तृतीय वर्ष की छात्रा की है। बुधवार को रंजना की शादी होनी थी। इंडिया में ज्यादा तर शादिया रात में ही होती है जहां सारे रस्म और रिवाज़ों के साथ सात फेरे लिए जाते है।

विदाई भी सुबह होती है और रंजना की विदाई का समय भी दस बजे का था और जब विदाई का वक्त आया तो रंजना ने पहले पेपर देने और बाद में विदाई करने की अपनी इच्छा बताई। पिता खुशाली व माता रुकमणि ने रंजना को कॉलेज भेजा। मैरिज को अभी 12 घंटे भी नहीं हुए थे। शादी के लिवास लाल जोड़े में पूरी तरह से सजी दुल्हन कॉलेज पहुंची और हिंदी साहित्य का द्वितीय प्रश्न पत्र की परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान दूल्हा राजेश कुमार और बाराती दुल्हन के परीक्षा देकर आने की राह देख रहे थे।

वीरभूमि कॉलेज के प्राचार्य ने बताया कि मिशन शक्ति अभियान से छात्राओं में जागरूकता फैलाई है। शादी के तुरंत बाद और विदाई से ठीक पहले छात्रा का पेपर देने का फैसला प्रशंसनीय है। रंजना एनएसएस की गतिविधियों में भी बढ़चढ़कर भाग लेती है। विदाई से पहले परीक्षा को प्राथमिकता देना बहुत ही सराहनीय कदम है।

Vishi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *