बचपन में इन फिल्मी सितारों को रही हैं शारीरिक कमियां, फिर भी पर्दे पर कमाया नाम, जानिए

बचपन में इन फिल्मी सितारों को रही हैं शारीरिक कमियां, फिर भी पर्दे पर कमाया नाम, जानिए

कई फिल्मी सितारों में शारीरिक कमियां होनेे के बाद भी पर्दे पर अच्छा कमाल दिखाया है। ऐसी खबर सामने आई हैं। आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्टस के हवाले से सामने आई खबर के मुताबिक अगर कोई बच्चा बचपन में हकलाता हो, जिसे स्कूल का होमवर्क करने में पसीने छूटते हों तो ऐसे बच्चे बड़े हो कर क्या बनते हैं? ऋतिक रोशन, अभिषेक बच्चन और तापसी पन्नू। आपको बता दें कि आजकल कई स्टार आगे बढ़ कर ये स्वीकार कर रहे हैं कि वह डिप्रेशन के मरीज रह चुके हैं।

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, शाहीन भट्ट और अब इलियाना डिक्रूज ने स्वीकार किया है कि उन्हें डिप्रेशन रह चुका है और किस तरह मेडिकेशन और पॉजिटिव एटीट्यूड से उन्होंने अपने को ठीक किया। लेकिन शारीरिक कमियों के साथ कलाकार बनना, जैसे राणा डग्गूबाती जिनकी एक आंख नकली है, सुधा चंद्रन जिसने अपना एक पांव एक्सी डेंट में गंवा दिया कम ही लोग कर पाते हैं ।बचपन में तापसी इतनी हायपर एक्टिव थीं कि कभी एक जगह पर ज्यादा देर नहीं बैठ पाती थीं। हर वक्त कोई ना कोई शरारत, तो ड़-फो ड़ करती हुई नजर आती थीं। ऐसा हम नहीं कह रहे मीडिया रिपोर्टस कह रही हैं। जब उनकी ये परेशानी उनके मम्मी-पापा को समझ तो वक्त पर उनका इलाज करवाया।

उन्हें दूसरे कामों में व्यस्त किया गया ताकि उनकी एनर्जी सही कामों में लग सके। तापसी को एक बार खेल-कूद की आदत लग गई, वो दिनभर खेलती रहती। इसके बाद इतनी थक जाती कि और कोई काम नहीं कर पाती, खेल और दूसरी एक्टिवटी करने के कारण से तापसी बहुत जल्द ठीक हो गईं। अभिनेता ऋतिक रोशन के पापा राकेश रोशन ने कभी नहीं सोचा था कि उनका इकलौता बेटा एक दिन इतना बड़ा सुपर स्टार बनेगा और जिसकी डॉयलाग डिलीवरी पर युवी पीढ़ी दीवानी हो जाएगी। बचपन से ऋतिक ठीक से बोल नहीं पाते थे, तुतलाते और हकलाते थे। इस कारण से उनमें सेल्फ कॉन्फिडेंस नहीं था, दुबले-पतले शर्मीले ऋतिक के पापा और नाना प्रोड्यूसर ओम प्रकाश उनके लिए बहुत परेशान रहते थे।

उन्होंने खुद ऋतिक रोशन को स्पीच थेरेपिस्ट के पास ले जाना शुरू किया। कई वर्ष लगे ऋतिक को ठीक से बोलने में, लेकिन आज यह बात स्वीकार करने में उन्हें कोई शर्म नहीं कि वह बचपन में ठीक से बोल नहीं पाते थे। उन्हें लगता है कि जिस तरह उन्होंने अपनी हकलाहट पर काबू किया, उस तरह जिंदगी में किसी भी परेशानी का सामना कर सकते हैं। जिन दिनों अभिषेक बड़े हो रहे थे, उनके पापा अमिताभ बच्चन सुपर स्टार थे। अपने बेटे के लिए उनके पास समय नहीं था, जब अभिषेक क्लास में पिछड़ने लगे, बिग बी को लगा कि उसके अंदर कोई कॉम्पलेक्स है। लेकिन जब डॉक्टर को दिखाया तो पता चला कि अभिषेक को डिस लेक्सिया है।

स्लो लर्नर के साथ-साथ उन्हें अक्षर ठीक से समझ नहीं आते, इस समस्या को जान लेने के बाद उनका उपचार हुआ। इसके पहले तक पढ़ाई में नंबर नहीं आने के कारण से अभिषेक मम्मी-पापा दोनों से डांट खाते थे। इसलिए बचपन में इंट्रो वर्ट भी हो गए थे। बाद में जब बिग बी ने अपने बेटे से कहा कि तुम्हें जिंदगी में जो अच्छा लगता है वो करो, अभिषेक ने तय किया कि वो अभिनेता बनेंगे। आज बॉलीवुड को एक से बढकर एक मूवीज दे चुके हैं।

Vishi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *