Raju Srivastav Death: बिना चीर-फाड़ के हुआ राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम, जानिए क्यों 

Raju Srivastav Death: बिना चीर-फाड़ के हुआ राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम, जानिए क्यों 

राजू श्रीवास्तव जिनको आज कौन नहीं जानता है कॉमेडियन की दुनिया के बादशाह कॉमेडी की दुनिया के मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव सब के दिलों पर राज करते हैं इन्होंने पूरी दुनिया में अपनी एक अलग ही पहचान बना ली है पर बड़ी दुखद घटना है कि आज हमारे बीच राजू श्रीवास्तव नहीं रहे इनका देहांत बुधवार 21 सितंबर 2022 को दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में हो गया आज हमने सबसे बड़े इंडस्ट्री के मशहूर कॉमेडियन को खो दिया जिनको शायद कभी हम भूल नहीं पाएंगे राजू श्रीवास्तव जिनका निधन 58 साल की उम्र में हो गया है राजू श्रीवास्तव को 40 दिन तक वेटिलेटर पर रखा गया था और बताया जा रहा है कि राजू श्रीवास्तव का ब्रेन काम नहीं कर रहा था उनके ब्रेन तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही थी इस कारण की वजह से डॉक्टरों ने उन्हें बेटी लेटर पर रखा हुआ था उन्हें बीच में कई बार व्यक्ति लेटर से हटाया गया था लेकिन फिर भी उन्हें शिफ्ट करना पड़ा 10 अगस्त को राजू श्रीवास्तव एक होटल में रुके थे वहां के जिम में वर्कआउट कर रहे थे जहां उन्हें हार्ड अटैक आया था बताया जा रहा है कि राजू श्रीवास्तव जब ट्रेडमिल पर दौड़ रहे थे और उन्हें अपने पेन महसूस हुआ और वह नीचे गिर गए उन्हें दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया वहां पर बताया कि उनके दिल का एक बड़ा हिस्सा 100% ब्लॉक था पर राजू श्रीवास्तव मरने के बाद भी हमारे दिलों मैं हमेशा जिंदा रहेंगेफैंस नम आंखों से दे रहे हैं श्रद्धांजलि

 

सोशल मीडिया और न्यूज़ पर जब सभी लोगों ने यह बात सुनी तो सभी तंग रह गए। सभी लोगों को बहुत ज्यादा दुख हुआ यह बात सुनने के बाद सभी लोगों ने कमेंट करते हुए सोशल मीडिया पर राजू श्रीवास्तव को अपनी नम आंखों से सभी ने भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी और फैमिली को सुख प्रदान करने की बात कही

 

ऐसे बिना चिर फाड़ के हुआ राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम

 

कॉमेडी किंग कहे जाने वाले राजू श्रीवास्तव के निधन के बाद उनके शव का वर्चुअल तकनीक से पोस्टमार्टम किया गया है, जिसके बाद उनके शव को परिवार को सौंप दिया गया है.

 

वर्चुअल पोस्टमार्टम यानी Virtual Autopsy नॉर्मल पोस्टमार्टम से काफी ज्यादा अलग है और इसमें इंसान के शरीर में चीर-फाड़ नहीं की जाती है. मशीनों की स्कैनिंग के जरिए ही शव का पोस्टमार्टम पूरा किया जाता है. सबसे खास बात है कि इसमें कुछ ही मिनट लगते हैं और जल्द ही शव को परिवार के हवाले कर दिया जाता है.

 

वर्चुअल पोस्टमार्टम कैसे होता है

वर्चुअल पोस्टमार्टम को पर भी कहा जाता है जो वर्चुअल और ऑटोप्सी शब्द से मिलकर बनाया गया है. वर्चुअल पोस्टमार्टम में शव की पूरी जांच मशीन की मदद से की जाती है, जिनमें सीटी स्कैन और एमआरआई मशीन भी शामिल हैं. सबसे खास बात है कि यह ना सिर्फ कम समय लेता है बल्कि मशीन की मदद से मौत की वजह को लेकर ज्यादा अच्छा अंदाजा मिल जाता है. और आपको बता दे की बीच में एक खबर आ रही थी कि राजू को अब एम्स से किसी अन्य अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। जिसपर उनके भाई ने बताया कि राजू का इलाज एम्स में ही होगा और जब वो पूरी तरह ठीक हो जाएंगे, उन्हें मुंबई ले जाया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया था कि उन्हें वेंटिलेटर से हटाने को लेकर विचार किया जा रहा है, लेकिन बार-बार आ रहे बुखार के कारण उन्हें वेंटिलेटर से नहीं हटा रहे हैं। इंफेक्शन को देखते हुए वेंटिलेटर के पाइप को बदला जा चुका है।

onlinepostreport

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *