फिल्मों में तो निरुपा ने ‘मां’ बनकर जीता था सभी का दिल, लेकिन असल जिंदगी में बेटों ने कर दिया था ये हाल

फिल्मों में तो निरुपा ने ‘मां’ बनकर जीता था सभी का दिल, लेकिन असल जिंदगी में बेटों ने कर दिया था ये हाल

बॉलीवुड डेस्क। अपने दशक की सबसे खूबसूरत अभनेत्रियों में शुमार निरूपा राय का नाम उस समय बड़ी स्टार्स में गिना जाता था वह बॉलीवुड की ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्होने बॉलीवुड में अपने दम पर एक खास पहचान बनाई थी। और अपनी अदाकारी का लोहा मनवाया है. यही कारण है उनकी फैन फोलोइंग न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी लोग उनकी फिल्मों का इंतजार करते थे। निरूपा राय ने अपने एक्टिंग करियर में एक से बढ़कर एक बेहतरीन फिल्मों में काम किया है जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर जमकर धमाल मचाया था।

Nirupa Roy

आपको बता दें की निरूपा राय ने ज्यादातर फिल्मों में मां की भूमिका निभाई थी। निरूपा राय का नाम सुनते ही लोगों को मां का स्नेह याद आ गया होगा। उनकी मां के रोल को दर्शकों ने खूब पसंद किया और यही वजह है कि मां के रूप में उनकी छवि दर्शकों के दिलों में बनी। बता दें, निरूपा रॉय को हिंदी सिनेमा में क्वीन ऑफ क्वीन के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बड़े पर्दे पर मां का किरदार निभाने वाली निरूपा रॉय को उनके बच्चों ने काफी चोट पहुंचाई है।

आपको बता दें की साल 2004 में निरूपा राय ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया और फिर 2015 में उनके पति कमल रॉय ने भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया। लेकिन उनकी मौत के बाद उनके बच्चों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद खड़ा हो गया है और विवाद कोर्ट तक पहुंच गया। बता देंकी निरुपा रॉय अपने निधन के बाद अपने बच्चों के लिए करीब 100 करोड़ रुपये की संपत्ति छोड़ गई हैं।

Nirupa Roy

इसके लिए उनके दोनों बेटों के बीच काफी लड़ाई हे रही हैं इसी बीच उनके बेटे करण ने एक इंटरव्यू के दौरान खुलासा किया कि उनके भाई योगेश और उनकी पत्नी उनके माता-पिता के साथ बुरा व्यवहार करते थे। जिससे उनके माता-पिता ने अपनी सारी संपत्ति उनके नाम पर छोड़ दी है। करण नहीं ने यह भी खुलासा किया कि भले ही योगेश को उनके घर में उनके साथ रहने की इजाजत थी, लेकिन उन्हें मम्मी और डैडी के कमरे में जाने की इजाजत नहीं थी।

गौरतलब है की निरूपा रॉय ने 300 से ज्यादा फिल्मों में मां का किरदार निभाया था लेकिन इन सभी में सबसे ज्यादा अमिताभ बच्चन की मां का किरदार निभाया इसी एक संवाद ने 1975 में रिलीज हुई फिल्म ‘दीवार’ को निरूपा की खास फिल्मों में से एक बना दिया. इसके बाद तो उन्होंने खून पसीना, मुकद्दर का सिकंदर, अमर अकबर एंथोनी, सुहाग, इंकलाब, गिरफ्तार, मर्द और गंगा-जमुना-सरस्वती जैसी कई फिल्मों में अमिताभ बच्चन की मां का किरदार निभाया और उनकी सिनेमाई मां बन गईं।

Vishi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *