70 साल की महिला ने दिया एक बेटे को जन्म शादी के 54 साल के बाद घर में आई खुशियां

70 साल की महिला ने दिया एक बेटे को जन्म शादी के 54 साल के बाद घर में आई खुशियां

माता-पिता बनने का सुख कौन नहीं चाहता हर कोई अपना बच्चा चाहता है हर कोई चाहता है कि अपना एक बच्चा हो और वह बड़ा होकर उनका सहारा बने और जिनके बच्चे नहीं होते हैं वह लोग बच्चे के लिए मंदिर मंदिर माथा टेकते हैं और कई मन्नते रखते हैं और कई डॉक्टरों से भी चेकअप करवाते हैं और डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेते हैं बच्चा होने के लिए कई जतन करते हैं बच्चा प्राप्ति के लिए कठिन से कठिन जतन करते हैं बच्चा प्राप्ति का सुख कौन नहीं चाहता आज हम हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताएंगे कि कैसे एक 70 वर्षीय महिला ने बच्चे को जन्म दिया! यह न केवल आम लोग कराते हैं बल्कि फिल्म स्टार बॉलीवुड इंडस्ट्री से लेकर बाकी सारे सेलिब्रिटी इस को अपनाते हैं जिनसे की उनके जीवन में प्यारी सी बेटी या बेटा आ सके आज के जमाने में यह सब आम हो चुका है सभी लोग इस पर खुलकर बात करते हैं।

70 साल की युवती ने दिया एक स्वस्थ बच्चे को जन्म

आज हम आपको ऐसे दंपत्ति के बारे में बताने जा रहे हैं कि उन्होंने संतान सुख के लिए कितने कठिन परिश्रम किए और कई सालों तक उन्होंने संतान प्राप्ति के लिए कई मंदिर घूमे माथा टेके कई मन्नते रखी कई अस्पतालों में चक्कर भी लगाए कठिन से कठिन प्रयत्न किए फिर उन्होंने बच्चे की उम्मीद ही छोड़ दी थी फिर अचानक उनको पता चला कि उनके घर में छोटा बच्चा आने वाला है शादी के चोपन साल बाद उनकी खुशियों का ठिकाना ही नहीं रहा और फिर यह सुख मिला कि उनके घर में भी छोटे बच्चे की किलकारियां गूंजी!
दोस्तों आपको बता दें कि बच्चे की मां की उम्र 70 साल थी और पिता की उम्र 75 साल थी दंपत्ति की शादी 1968 में हुई थी मां का नाम चंद्रावती है और पिता का नाम गोपीचंद है तब से लेकर अब तक उन्हें संतान सुख प्राप्त नहीं हुआ था बच्चे के पिता गोपीचंद पूर्व सैनिक है।

बच्चे का वजन 3 किलो है

1983 में गोपीचंद रिटायर होकर घर वापस लौटे तब उन्होंने अपनी पत्नी का कई डॉक्टरों से चेकअप करवाया हर तरह का ट्रीटमेंट करवाया मगर कोई रिजल्ट नहीं निकला और उन्होंने उम्मीद ही खो चुके थे फिर उनको आईबीएफ के बारे में पता चला की आईबीएफसी से बच्चा हो सकता है।आईबीएफ एक बहुत महंगा इलाज है जिसमें पुरुष के शुक्राणु महिला के गर्भाशय में दिए जाते हैं जिससे बच्चे का जन्म होता है यानी इस इलाज को टेस्ट ट्यूब बेबी भी कहा जाता है डॉक्टर ने बताया कि यह पहला केस है जिसमें 70 वर्षीय महिला ने टेस्ट ट्यूब बेबी के जरिए एक स्वस्थ बच्चे70 साल की महिला ने दिया एक बेटे को जन्म शादी के 54 साल के बाद घर में आई खुशियां को जन्म दिया बच्चे का वजन 3 किलो है जो काफी अच्छी बात है दंपत्ति के साथ-साथ डॉक्टर और सभी लोग बहुत खुश हुए! बच्चा बेहद ही स्वस्थ और तंदुरुस्त है।

onlinepostreport

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *